सऊदी अरब में शिया मस्जिद में आत्मघाती बम विस्फोट, 4 लोगों की मौत, 18 घायल                                                 पाक में मौजूद आतंकियों के सुरक्षित पनाहगाह समस्या पैदा कर रहे: अमेव्यापारी नेता मिले मंत्री गोप जी सेरिकी जनरल                                            पूर्वी रूस में 7.0 तीव्रता का भूकंप, सुनामी का खतरा नहीं

अमेरिका में फर्ग्युसन पुलिस गोलीबारी की पहली बरसी पर मौन और मार्च

फर्ग्युसन (अमेरिका) : एक साल पहले जिस स्थान पर एक निहत्ते अश्वेत किशोर एक श्वेत पुलिसकर्मी की गोली से मारा गया था, उसी स्थान पर सैंकड़ों प्रदर्शनकारी खड़े रहे और मौन रखा। इससे एक बार फिर अमेरिका में नस्ली रिश्तों की स्थिति की ओर लोगों का ध्यान गया है। 18 वर्षीय माइकल ब्राउन की मौत नौ अगस्त 2014 को पुलिस अधिकारी डैरेन विल्सन के साथ एक दुर्भाग्यपूर्ण मुठभेड़ में हो गई थी। ब्राउन की बरसी के अवसर पर एकत्रित हुई लोगों ने दो सफेद फाख्ते भी छोड़े गए। लगभग 300 लोगों की इस भीड़ ने साढ़े चार मिनट के लिए मौन रखा। यह प्रत्येक मिनट उस साढ़े चार घंटे के लिए था, जब ब्राउन का शव सड़क पर औंधे मुंह पड़ा रहा था। इसके बाद उसे वहां से ले जाया गया था। सेंट लुइस के उपनगर मिसोरी स्थित फर्ग्युसन में हुई इस हत्या के बाद भारी विरोध प्रदर्शन हुए थे। मुठभेड़ की कई घटनाओं में निहत्थे अश्वेतों की मौतों के बाद पुलिस की सख्ती वाली रणनीतियों में कटौती की भी मांग उठी थी। फिर भी गोलीबारी का एक अन्य मामला शुक्रवार को सामने आया, जिसमें टेक्सास के पुलिस अधिकारी ने कॉलेज के फुटबॉल खिलाड़ी 19 वर्षीय क्रिश्चियन टेलर को गोली मार दी थी। फर्ग्युसन में जुटी भीड़ में कई लोगों ने ब्राउन की तस्वीर बनी और ‘बदलाव चुनो’ लिखी टीशर्ट पहनी थीं। अन्य लोगों ने हाथांे में तख्तियां पकड़ी थीं, जिनमें से एक पर लिखा था, ‘अश्वेत बच्चों को मारना बंद करो’। इसके बाद इन्होंने फग्यरुसन से ग्रेटर सेंट मार्क्‍स चर्च तक शांतिपूर्ण मार्च निकाला। यह चर्च ब्राउन की मौत के बाद हुए विरोध प्रदर्शनों के दौरान एक शरणस्थली रहा था। ब्राउन के पिता माइकल ने कहा कि वह बहुत आभारी हैं कि इतने सारे लोग मार्च के लिए जुटे हैं।

News Posted on: 10-08-2015
वीडियो न्यूज़
मासिक राशिफल