सऊदी अरब में शिया मस्जिद में आत्मघाती बम विस्फोट, 4 लोगों की मौत, 18 घायल                                                 पाक में मौजूद आतंकियों के सुरक्षित पनाहगाह समस्या पैदा कर रहे: अमेव्यापारी नेता मिले मंत्री गोप जी सेरिकी जनरल                                            पूर्वी रूस में 7.0 तीव्रता का भूकंप, सुनामी का खतरा नहीं

कहीं बदलाव न बन जाए भटकाव

पेशेवर जिंदगी में प्रवेश के साथ ही बुलंदियों पर पहुंचने का सपना हर मन में होता है, लेकिन सभी का सपना साकार हो यह जरूरी नहीं। बिखरते सपनों को पूरा करने की जद्दोजहद में कुछ लोग जल्दी-जल्दी करियर बदलते हैं। एक के बाद दूसरा और दूसरे के बाद तीसरा करियर बदलते-बदलते ये लोग कई बार राह ही भटक जाते हैं। करियर में भटकाव के क्या कारण हैं? क्या करें जब बदलें करियर प्लान। बता रही हैं वंदना अग्रवालआरव पत्रकार बनना चाहता था। ग्रेजुएशन के बाद उसने मास कम्युनिकेशन की पढ़ाई की और एक चैनल में प्रशिक्षु पत्रकार के रूप में काम करने लगा। पहले साल उसने खुशी-खुशी काम किया, लेकिन थोड़ा और समय बीतते-बीतते उसे लगा कि वह टीवी से बेहतर काम प्रिंट जर्नलिज्म में कर सकता है। वह एक नामी अखबार से जुड़ गया। वहां भी उसका मन नहीं रमा। कुछ दिनों बाद उसने एक पब्लिक रिलेशन कंपनी ज्वॉइन कर ली। थोड़े ही दिनों बाद उसका मन वहां भी नहीं रमा। वह एक इंश्योरेंस एजेंसी से जुड़ गया। उसका वहां भी मन नहीं लगा। इस बार उसने सोचा कि क्यों न अपना काम किया जाए। उसने अपनी ईवेंट मैनेजमेंट कंपनी बना ली, लेकिन इस काम से भी उसे संतुष्टि नहीं मिली। फिर वह एक कॉलेज में पढ़ाने लगा। इन दिनों वह खाली है और अपने निर्णयों पर पछता रहा है। दरअसल इतने काम बदलने में उसने करियर के महत्वपूर्ण 8 साल खराब कर दिए। इन आठ सालों में न केवल उसकी उम्र बढ़ी, बल्कि पेशेवर दुनिया में भी वह आठ साल पीछे हो गया। अब वह पद, वेतन और जिम्मेदारी तो अपने हमउम्र साथियों के बराबर चाहता है, लेकिन उसकी दक्षता उनसे कम है और किसी भी काम में उसका स्पेशलाइजेशन भी नहीं है। इसलिए कोई भी कंपनी उसे अपने यहां नौकरी देने को तैयार नहीं।
आरव जैसे बहुत से युवा हैं, जिनका करियर शुरुआती पड़ाव पर ही राह भटक जाता है। कुछ वक्त रहते अपने करियर को सही पड़ाव पर ले आते हैं, लेकिन अधिकांश की नैया पार नहीं हो पाती। एक के बाद दूसरे, दूसरे के बाद तीसरे करियर में हाथ आजमाते-आजमाते वे कुंठित होने लगते हैं। उनका खुद पर से भरोसा उठ जाता है। अपने हर निर्णय पर वे संदेह करते हैं, जिसकी वजह से करियर में तो भटकाव होता ही है, बाकी जिंदगी भी पटरी से उतरने लगती है। आमतौर पर करियर में भटकाव की निम्न वजह होती हैं- 
दबाव में करियर का चयन कभी पीयर प्रेशर तो कभी माता-पिता के सपने और कभी आर्थिक दिक्कतों की वजह से कुछ लोगों को अपनी पढ़ाई और व्यक्तित्व के विपरीत करियर चुनना पड़ता है। ऐसे में वे मन लगा कर काम नहीं कर पाते। उनका मन हमेशा मनपसंद काम की ओर लगा रहता है। यही उधेड़बुन करियर में बदलाव की एक बड़ी वजह बन जाती है।
योग्यताजरूरी नहीं कि व्यक्ति जिस फील्ड में काम कर रहा हो उसके लिए जरूरी सभी योग्यताएं उसमें हों। ऐसे में वह अपने काम में सहज नहीं रह पाता। काम से जी चुराना और नई जिम्मेदारी लेने से बचना उसकी आदत बनती जाती है। धीरे-धीरे वर्तमान करियर में वह खुद को फिट महसूस नहीं करता। उसकामन करियर में बदलाव के लिए बेचैन हो जाता है।
अति महत्वाकांक्षाकुछ लोग बेहद तेज गति से आगे बढ़ना चाहते हैं। इसके चलते वे किसी भी कंपनी में लंबे समय तक नहीं टिक पाते। एक के बाद दूसरी और दूसरी के बाद तीसरी कंपनी बदलते जाते हैं। कई बार इसका विपरीत असर करियर ग्राफ पर पड़ता है। देखने में आया है कि करियर का एक दशक पार करते-करते ऐसे लोग खुद को पिछड़ा हुआ महसूस करने लगते हैं। इस स्थिति से खुद को उबारने के लिए वे करियर में बदलाव करके देखते हैं। अगर नये करियर में भी उन्हें संतुष्टि नहीं मिलती तो भटकाव शुरू हो जाता है।  
बॉस से अनबनकुछ लोग अपने बॉस के रवैए से नाखुश होकर भी करियर बदलने का विचार बना बैठते हैं। उन्हें लगता है कि दूसरे करियर में काम करना ज्यादा सुविधापूर्ण रहेगा।  तरक्की और आय के मौके भी वहां ज्यादा मिलेंगे। देखने में आया है कि ऐसे लोग ज्यादातर अपना खुद का काम करना पसंद करते हैं। पे स्केल्स वेबसाइट ने अपनी कंपन्सेशन बेस्ट प्रेक्टिस 2015 की रिपोर्ट में कहा है कि नौकरी छोड़ने के बहुत कारण हो सकते हैं। निजी कारण में जहां परिवार, शादी, स्वास्थ्य आदि सबसे ऊपर रहे, वहीं पैसा एक बड़ा कारण उभर कर सामने आया। काम में मन न लगना, खुद को किसी और कार्य में फिट न पाना जैसे कारण भी नौकरी छोड़ने के कारणों में से रहते हैं। 
फोकस्ड न होनाआमतौर पर उन्हीं लोगों के करियर में भटकाव देखने को मिलता है, जो करियर को ले कर फोकस्ड नहीं होते। कभी उनका मन बिजनेस की ओर दौड़ता है तो कभी नौकरी की ओर। कभी वे अपने ही शहर में काम करना चाहते हैं तो कभी मेट्रो सिटी उनका मन लुभाता है, लेकिन किसी भी काम में उन्हें संतुष्टि नहीं मिलती। 
असुरक्षा की भावना    कुछ लोगों में असुरक्षा की भावना ज्यादा होती है। ऐसे लोग हमेशा करियर में स्थायित्व की तलाश में रहते हैं। अगर उन्हें वर्तमान करियर से ज्यादा स्थायित्व किसी और करियर में दिखाई देता है तो वे करियर बदलने में देर नहीं करते।
यह भी जांचेंकोई भी राह पकड़ने से पहले यह जरूर जांच लें कि नए करियर के लिए जरूरी सभी योग्यताएं आप में हैं या नहीं। अगर आपका मन मार्केटिंग में जाने का है तो अपने व्यक्तित्व पर एक बार नजर दौड़ा लें। यह जांच लें कि आपको लोगों से मिलना-जुलना पसंद है या नहीं। भाषा खासकर अंग्रेजी पर पकड़ है या नहीं। आप अपना काम शुरू करना चाहते हैं तो पूंजी निवेश की व्यवस्था कहां से करेंगे। आपके परिवार में उस काम की कितनी स्वीकार्यता है और नए काम के मुताबिक आप खुद को बदल पाएंगे या नहीं। अगर आप इन बिंदुओं को विचारे बिना नए करियर में प्रवेश करेंगे तो वहां भी मन भटकेगा ही। ऐसे में आपकी स्थिति क्या होगी ये आप खुद ही समझ सकते हैं। 
क्या न करें...छवि को लेकर सजगताकरियर बदलते समय कुछ लोग अपनी छवि को लेकर अधिक सजग हो जाते हैं। उन्हें लगता है कि अगर वे नए करियर में नहीं जम पाए तो उनकी छवि खराब होगी। लोग उन पर हंसेंगे। परिवार भी मदद करने में हिचकिचाएगा। ऐसे में उनके पास कोई विकल्प नहीं बचेगा। यह सोच नए करियर में उनके 100 प्रतिशत योगदान को प्रभावित करती है। उनका ध्यान सफलता के लिए 100 प्रतिशत देने की बजाय इस बात पर रहता है कि सफल न हो पाने की स्थिति में वे क्या करेंगे। नए करियर में कदम रखते समय इस सोच से ऊपर उठना चाहिए।  
यू टर्न न लेंनए करियर में प्रवेश के बाद पिछले करियर में वापस आने के किसी रास्ते पर विचार न करें। मन ही मन यह बात गुन लें कि आपके लिए कोई यू टर्न नहीं है। ध्यान रखें कि यू टर्न अपनाने वालों का जिंदगी में किसी मुकाम तक पहुंचना बेहद मुश्किल होता है।
इन पर गौर करें- अगर आप करियर बदलने की सोच रहे हैं तो बेहतर होगा कि वर्तमान करियर से संबंधित क्षेत्र में ही नया करियर चुनें। जैसे अगर आप मार्केटिंग की फील्ड से जुड़े हैं तो अपनी विज्ञापन एजेंसी खोल सकते हैं। - अपने निर्णय पर भरोसा रखें और चुनौती के समय में आत्मविश्वास न खोएं। - नए करियर के मुताबिक व्यक्तित्व में बदलाव लाएं।


News Posted on: 29-12-2015
वीडियो न्यूज़
मासिक राशिफल