सऊदी अरब में शिया मस्जिद में आत्मघाती बम विस्फोट, 4 लोगों की मौत, 18 घायल                                                 पाक में मौजूद आतंकियों के सुरक्षित पनाहगाह समस्या पैदा कर रहे: अमेव्यापारी नेता मिले मंत्री गोप जी सेरिकी जनरल                                            पूर्वी रूस में 7.0 तीव्रता का भूकंप, सुनामी का खतरा नहीं

केरल में नहीं बिकेगी शराब, सरकार के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट की मुहर

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने पूरे केरल राज्य में शराबबंदी लागू करने के तहत बनाई गई केरल सरकार की शराब नीति पर मंगलवार को अपनी मुहर लगा दी। इस नीति के तहत सिर्फ फाइव स्टार होटलों के बार में शराब परोसने की इजाजत होगी।न्यायाधीश विक्रमजीत सेन और न्यायाधीश शिवा कीर्ति सिंह की मौजूदगी वाली सर्वोच्च न्यायालय की एक पीठ ने मंगलवार को अपना फैसला सुनाया कि केरल सरकार की शराब नीति को चुनौती देने वाली याचिकाएं खारिज की जाती हैं और शराब नीति को बनाए रखने के केरल हाई कोर्ट के फैसले को बरकरार रखा जाता है।शीर्ष अदालत द्वारा बरकरार रखी गई शराब नीति सिर्फ पांच सितारा होटलों के बार में शराब परोसने की अनुमति देती है। इस नीति के तहत गैर पांच सितारा होटलों में शराब की बिक्री व सेवन वर्जित है।शराब परोसे जाने को लेकर केरल सरकार ने राज्य में नई नीति बनाई थी जिसके तहत सिर्फ पांच सितारा होटलों में ही शराब परोसी जा सकेगी। राज्य के होटल और बार मालिकों ने इस नीति को हाई कोर्ट में चुनौती दी थी लेकिन हाई कोर्ट ने याचिका खारिज कर दी थी, जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई थी।केरल में सबसे ज्यादा 14.9 फीसदी शराब की खपत है। राज्य में शराबबंदी की नीति बनाई गई है जिसके तहत सरकार ही शराब की सप्लाई करती है और राज्य में शराब की 732 दुकानें हैं जहां से शराब खरीदी जा सकती है। राज्य में सिर्फ 20 फाइव स्टार होटल हैं और सिर्फ उन्हें ही बार के लाइसेंस दिए गए हैं।

News Posted on: 29-12-2015
वीडियो न्यूज़
मासिक राशिफल