सऊदी अरब में शिया मस्जिद में आत्मघाती बम विस्फोट, 4 लोगों की मौत, 18 घायल                                                 पाक में मौजूद आतंकियों के सुरक्षित पनाहगाह समस्या पैदा कर रहे: अमेव्यापारी नेता मिले मंत्री गोप जी सेरिकी जनरल                                            पूर्वी रूस में 7.0 तीव्रता का भूकंप, सुनामी का खतरा नहीं

अयोध्या में शिलापूजन करने वाले देसी आंतकवादी

लखनऊ. बहुजन समाज पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और विपक्ष के नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने पिछले दिनों अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए हुए शिलापूजन को लेकर विश्व हिन्दू परिषद की तीखी आलोचना की है. मौर्य ने कहा, 'अखिलेश सरकार की शह पर कानून को अपने हाथों में लेकर पत्थर लाने वाले लोग देसी आंतकवादी हैं.
इन लोगों को कानून से कोई मतलब नहीं है. ये लोग केवल सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने के लिए ऐसी हरकतें कर रहे हैं.' उन्होंने मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान सत्ताधारी सपा और भाजपा ने पूरे प्रदेश को दंगे की आग में झोंक दिया था. ये फिर से वैसी ही हरकतें करने के प्रयास हैं. मौर्य ने कहा, 'सपा-भाजपा की नूराकुश्ती में प्रदेश की हिन्दू-मुस्लिम एकता भंग हो रही है. राम जन्मभूमि का पूरा मामला सर्वोच्च न्यायालय में विचाराधीन है, फिर भाजपा के लोगों को कानून हाथ में लेने की जरूरत क्यों पड़ी?' सपा में पंचायत चुनाव को लेकर मचे घमासान को लेकर स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि प्रदेश को पहले से चार मुख्यमंत्री चला रहे हैं तो झगड़ा तो होना ही है. पार्टी के भीतर का विवाद अब खुलकर बाहर आ रहा है, जो कि 2017 में होने वाले विधानसभा चुनाव में सपा के लिए बहुत ज्यादा नुकसानदेह होगा. वह प्रदेश में चल रहे अधिकारियों के तबादले को लेकर भी प्रदेश सरकार पर जमकर बरसे. उन्होंने कहा कि सरकार अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के अधिकारियों को जानबूझकर परेशान कर रही है. इसमें सरकार की कुंठा और सामंती सोच दिखती है.

News Posted on: 31-12-2015
वीडियो न्यूज़
मासिक राशिफल