सऊदी अरब में शिया मस्जिद में आत्मघाती बम विस्फोट, 4 लोगों की मौत, 18 घायल                                                 पाक में मौजूद आतंकियों के सुरक्षित पनाहगाह समस्या पैदा कर रहे: अमेव्यापारी नेता मिले मंत्री गोप जी सेरिकी जनरल                                            पूर्वी रूस में 7.0 तीव्रता का भूकंप, सुनामी का खतरा नहीं

नाखुश अधिकारी केंद्र सरकार में जा सकते हैं: केजरीवाल

नयी दिल्ली, 01 जनवरी, दिल्ली में प्रदूषण पर नियंत्रण पाने के लिए आज सुबह आठ बजे से प्रयोग के तौर पर सम-विषम कार योजना शुरू हो गया, सम-विषम योजना की शुरुआत विषम नंबर की गाड़ियाें के साथ हुई। हालांकि इस योजना में महिलाओं, शारीरिक रुप से अक्षम लोगों, अतिविशिष्ट व्यक्तियों, सीएनजी वाहनों, व्यावसायिक वाहनों, दूतावास की गाड़ियों और अापात चिकित्सा सेवाओं को छूट दी गई है। यह योजना फिलहाल 15 दिनों के लिए प्रयोग के तौर पर ही शुरू की गयी है जो रविवार को छोड़कर प्रतिदिन सुबह आठ बजे से रात अाठ बजे तक प्रभावी होगा। इसका उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों के खिलाफ दो हजार रूपये का चालान किया जाएगा। गौरतलब है कि दिल्ली उच्च न्यायालय और राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण(एनजीटी) की फटकार के बाद सरकार ने राजधानी में प्रदूषण को नियंत्रित करने के फैसले के तहत एक जनवरी से सम और विषम नंबर की गाड़ियों को एक दिन छोड़कर एक दिन चलाने की अनुमति का फैसला किया था।
सरकार ने इस योजना के प्रति आम लोगों को जागरूक करने के लिए दस हजार वालंटियर्स तैनात किये हैं। इसके अलावा नियम तोड़ने वालों के खिलाफ सख्ती से निपटने के लिए 66 प्रवर्तन एजेंसियों को लगाया गया है। 
इसके तहत अतिविशिष्ट व्यक्तियों की गाड़ियों के अलावा एंबुलेंस, दमकल, अस्पताल, जेल, ‌शव वाहन को इस सम विषम फार्मूले से मुक्त रखा गया है। भारत के मुख्य न्यायाधीश समेत कई अतिविशिष्ट लोगों ने इस योजना का समर्थन करते हुए कहा था ''अगर संभव हुआ तो मैं अपने सहयोगी के साथ कार पुलिंग करके उच्चतम न्यायालय जाउंगा।'' 
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया अपने विषम नंबर की कार से सुबह दस बजे दिल्ली सचिवालय जाएंगे जबकि लोक निर्माण स्वास्थ्य मंत्री सतेन्द्र जैन और परिवहन मंत्री गोपाल राय मुख्यमंत्री के साथ कार पुलिंग करेंगे। वहीं संस्कृति मंत्री कपिल मिश्रा अपने यमुना विहार निवास से बाइक से सचिवालय आयेंगे। जबकि पर्यावरण मंत्री इमरान हुसैन ने ऑटो रिक्शा से सचिवालय जाने का निर्णय लिया है। सामाजिक कल्याण मंत्री संदीप कुमार आईएसबीटी से बस में सवार होकर सचिवालय जाएंगे। सरकार ने इस योजना को सफल बनाने के लिए दिल्ली मेट्रो रेल कार्पोरेशन समेत कई एजेंसियों को सम तारीख को सिर्फ सम संख्या वाली गाड़ियों और विषम संख्या वाले दिन विषम नंबर की गाड़ियों को पार्किंग में आना सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। 

News Posted on: 02-01-2016
वीडियो न्यूज़
मासिक राशिफल