सऊदी अरब में शिया मस्जिद में आत्मघाती बम विस्फोट, 4 लोगों की मौत, 18 घायल                                                 पाक में मौजूद आतंकियों के सुरक्षित पनाहगाह समस्या पैदा कर रहे: अमेव्यापारी नेता मिले मंत्री गोप जी सेरिकी जनरल                                            पूर्वी रूस में 7.0 तीव्रता का भूकंप, सुनामी का खतरा नहीं

सोशल मीडिया प्रोफाइल से बनाएं अच्छी छवि

आज सोशल मीडिया के जरिए किसी के व्यक्तित्व का अंदाजा लगाना काफी आसान हो गया है। यही वजह है कि मल्टीनेशनल और स्टार्टअप कंपनियां नौकरी पर रखने से पहले आवेदक के प्रोफाइल को परखती हैं। इससे उन्हें अंदाजा लग जाता है कि आवेदक उनकी कंपनी में फिट बैठता है या नहीं। कैसा हो आपका प्रोफाइल, बता रही हैं करुणा कृति प्रतिस्पर्धा की इस दौड़ में मंच कोई भी हो, आपसे बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद की जाती है। चाहे वह ऑनलाइन पर आपकी मौजूदगी की बात ही क्यों न हो। नौकरी तलाशने के क्रम में आपसे एक आदर्श पेशेवर के रूप में दिखने की उम्मीद की जाती है। शायद यही वजह है कि करियर काउंसलर आपसे सोशल मीडिया पर संभल कर चलने की बात कहते हैं। इसके पीछे वह चलन है, जिसमें नियोक्ता नौकरी पर रखने से पहले सोशल मीडिया पर आपके प्रोफाइल की जांच करते हैं।  क्या चाहते हैं नियोक्ता
अगर आपने किसी जॉब के लिए आवेदन किया है तो संभव है कि कंपनी की एचआर टीम का कोई सदस्य सोशल मीडिया पर आपकी उपस्थिति को परख रहा हो। आप किस तरह की पोस्ट डाल रहे हैं, क्या शेयर कर रहे हैं, इस पर उसकी पूरी नजर हो सकती है। ऑनलाइन पर आपकी मौजूदगी को जांचने वाली एक संस्था रेपलर के एक सर्वे के मुताबिक नियोक्ता सोशल नेटवर्किंग साइट्स में से सबसे ज्यादा लिंक्डइन, फेसबुक और ट्विटर पर नजर रखते हैं। नौकरी पर रखने की प्रक्रिया की शुरुआत ही में वे इन साइट्स को विजिट करना पसंद करते हैं। सर्वे में शामिल नियोक्ताओं में से लगभग आधों ने कहा कि आवेदन मिलने के साथ ही सबसे पहले वे उम्मीदवार की सोशल मीडिया पर मौजूदगी को परखते हैं, जबकि 15 फीसदी नियोक्ताओं ने कहा कि आवेदक से बात करने के बाद उन्होंने उसकी ऑनलाइन मौजूदगी को परखा। सर्वे में निष्कर्ष निकला कि व्यक्ति के तौर पर आप कैसे हैं, इस बात का अंदाजा लगाने के लिए नियोक्ता ऐसा करते हैं। साथ ही नियोक्ता आपकी क्षमताओं का आकलन करने की कोशिश करते हैं, ताकि यह पता चल सके कि आप कितने अच्छे तरीके से काम कर सकते हैं। नियोक्ता उन उम्मीदवारों को तरजीह देते हैं, जिनकी लेखन शैली और बातचीत का तरीका अच्छा है। इसके अलावा आपकी ग्रामर की भी जांच हो जाती है। क्यों करते हैं आवेदन खारिज 
रेपलर के सर्वे में शामिल 60 फीसदी नियोक्ताओं ने उम्मीदवारों की ऑनलाइन मौजूदगी को परखने के बाद उन्हें खारिज कर दिया। इसका बड़ा कारण था उम्मीदवार के ऑनलाइन प्रोफाइल और रेज्यूमे में दी गई शैक्षिक योग्यता में अंतर। आवेदन के खारिज होने का बड़ा कारण था, पिछली कंपनी या अपने स्कूल-कॉलेज को बुरा बताने वाले पोस्ट डालना। इसके अलावा यह ध्यान रखें कि आप जिस कंपनी में काम करने जा रहे हैं, उसके बारे में कहीं भी बुरा न कह रहे हों। तस्वीरें डालें पर संभल कर
सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर ऐसी तस्वीरें डालें, जो आपको सकारात्मक और परिपक्व व्यक्ति के रूप में पेश करें। ये तस्वीरें आपकी हॉबी या पसंदीदा चीजों से जुड़ी हो सकती हैं। इसके साथ ही आप उन तस्वीरों को शेयर करने से बचें, जिससे उनकी नजर में आपकी छवि खराब बने। उदाहरण के तौर पर हाथ में वाइन के गिलास वाली तस्वीर आपको नकारात्मक नहीं दिखाएगी, पर हाथ में वाइन का गिलास हो और आप नशे की हालत में जमीन पर पड़े हुए हों या फोटो में साफ दिख रहा हो कि आप ज्यादा ड्रिंक करते हैं और खुद को संभाल नहीं पाते, ऐसी तस्वीर आपकी अपरिपक्वता का परिचय देगी। इसके अलावा इस बात पर भी ध्यान देते रहें कि कोई व्यक्ति किसी अश्लील तस्वीर या पोस्ट से आपको टैग तो नहीं कर रहा। इससे आपकी संगत और माहौल का अंदाजा लगाया जाएगा।  दिखें प्रोफेशनल
फेसबुक खासकर लिंक्डइन पर ऐसी तस्वीरें डालें, जिसमें आप फॉर्मल लुक में हों। आपकी फुल शॉट तस्वीर से अच्छा है हेड शॉट वाली तस्वीर डालें, वो भी मुस्कराते हुए। आप प्रोफेशनली कैसे दिख रहे हैं, यह पता करने के लिए आप फोटोफीलर नाम की एक साइट पर अपनी फोटो अपलोड करें। इससे फोटो में आप आत्मविश्वासी और प्रभावशाली व्यक्ति के रूप में नजर आ रहे हैं या नहीं, यह पता लग जाएगा। कैसे कर रहे हैं प्रस्तुत 
जॉब के आवेदन करने की प्रक्रिया के दौरान कभी-कभार अपने नाम को गूगल में ढूंढ़ें, ताकि जान सकें कि गूगल आपके बारे में क्या दिखा रहा है। नियोक्ता की नजर से आपकी अपने बारे में क्या राय बन रही है और संबंधित नौकरी के लिए आप खुद को हायर करेंगे या नहीं, इन सवालों का जवाब ढूंढें। जवाब ‘न’ में हो तो कारणों की सूची बनाएं। हो सकता है आपके पोस्ट गलत विचारधारा को प्रकट कर रहे हों या आपके दोस्त आपकी वॉल पर अनुचित तस्वीरें या अनुचित कमेंट डाल रहे हों। इसके लिए अपनी सेटिंग बदलें और दोस्तों से कहें कि वे ऐसी पोस्ट न डालें। नियोक्ता को आपकी प्रोफाइल कैसी दिख रही है, इसके लिए अपने फेसबुक पेज के ऊपर दाएं कोने पर जाएं और प्रिव्यू माई प्रोफाइल पर जाकर देखें। आप चाहें तो अपने मुताबिक सेटिंग को एडिट भी कर सकते हैं। 
इन साइट्स पर जरूर हो आपका अकाउंट
वैसे तो अधिकतर नियोक्ता उम्मीदवार को परखने के लिए उनके लिंक्डइन प्रोफाइल पर जाते हैं, पर कई बार क्षेत्र के हिसाब से भी दूसरी साइट्स पर आपकी मौजूदगी को परखते हैं। जैसे, अगर कोई डिजाइनर है तो उसकी पिनट्रेस्ट या टम्बलर प्रोफाइल को परखा जाता है, अगर कोई व्यक्ति मॉडल है तो उसके इंस्टाग्राम को परखा जाता है, वहीं निजी पृष्ठभूमि को जानने के लिए कंपनी फेसबुक प्रोफाइल को देखना पसंद करती है।  कैसा हो आपका लिंक्डइन प्रोफाइल
लिंक्डइन अपने करियर क्षेत्र और पेशे से जुड़े पेशेवर लोगों से नेटवर्क बनाने का अच्छा जरिया है। अपने करियर क्षेत्र से संबंधित ग्रुप जॉइन करें। लिंक्डइन के मानदंडों के हिसाब से चलें। यदि आप चाहते हैं कि नियोक्ता, बॉस, या सहकर्मी आपके निजी ब्लॉग या पोस्ट को न देख पाएं तो इसके लिए सेटिंग पर जा कर लिंक्डइन प्रोफाइल में ‘फीड’ के सिंक ऑप्शन को अनचेक कर दें। लिंक्डइन पर डाले गए रेज्यूमे को बहुत से लोग देखते हैं। इसलिए जो सच है, वही लिखें। हाल की फोटो डालें। फॉर्मल ड्रेस में हेड शॉट डालें। अपने लिंक्डइन यूआरएल को छोटा रखें, जिससे गूगल पर आपके लिंक्डइन प्रोफाइल को ढूंढ़ना आसान हो। इसके लिए आप लॉगिन करें, अकाउंट और सेटिंग्स पर जाकर पब्लिक प्रोफाइल पर क्लिक करें और पेज पर यूआरएल एडिट करने का विकल्प चुनें। उदाहरण के तौर पर अगर आपका नाम रंजीत सिंह है तो आपकी लिक्डइन प्रोफाइल ऐसी होनी चाहिए। www.linkedin.com/in/ranjeetsingh  
कैसा हो आप का फेसबुक प्रोफाइल
यदि आप फेसबुक प्रोफाइल को पेशेवर नेटवर्किंग के  लिए इस्तेमाल कर रहे हैं तो अपने प्रोफाइल में जरूरी बदलाव करने के लिए तैयार रहें। इसका मतलब है आपको कुछ कमेंट के साथ-साथ तस्वीरें हटानी होंगी, जो आपकी पेशेवर जिंदगी के लिहाज से ठीक न हों। अगर आपको पार्टी करना पसंद है और नहीं चाहते कि भावी बॉस आपकी पर्सनल प्रोफाइल देखें तो सारी प्राइवेसी सेटिंग में ‘फ्रेंड्स ओनली’ का ऑप्शन चुनें और कौन आपके प्रोफाइल को देखेगा, इसके प्रति सेलेक्टिव रहें। फेसबुक पर प्राइवेसी सेटिंग बदलें, ताकि यह तय हो सके कि आपके पेज को कौन देखेगा। इससे नियोक्ता भी आपसे ऐड हुए बिना आपकी प्रोफाइल को नहीं देख पाएंगे। इसके अलावा सेटिंग में बदलाव करें, ताकि लोग आपकी फेसबुक वॉल पर कोई अनुचित पोस्ट न डाल सकें। अगर आपने कहीं काम किया है और उस संस्था से जुड़े लोग आपकी फ्रेंडलिस्ट में हैं तो कस्टम सेटिंग का विकल्प चुन कर उन्हें अपनी निजी पोस्ट देखने से रोक सकते हैं।कैसा हो आप का ट्विटर अकाउंट
मार्केटिंग के क्षेत्र में उम्मीदवार के ट्विटर अकाउंट को देखने का चलन है। इससे पता चल जाता है कि उम्मीदवार का नेटवर्क कैसा है। ट्विटर प्रोफाइल को पब्लिक नहीं, प्रोफेशनल बनाएं। अपने करियर क्षेत्र से जुड़े ट्वीट डालें और फॉलो करें। अगर किसी कंपनी में सीनियर पोस्ट के लिए जा रहे हों तो 60 फीसदी ट्वीट आपकी इंडस्ट्री से जुड़े होने चाहिए। 

News Posted on: 04-01-2016
वीडियो न्यूज़
मासिक राशिफल