सऊदी अरब में शिया मस्जिद में आत्मघाती बम विस्फोट, 4 लोगों की मौत, 18 घायल                                                 पाक में मौजूद आतंकियों के सुरक्षित पनाहगाह समस्या पैदा कर रहे: अमेव्यापारी नेता मिले मंत्री गोप जी सेरिकी जनरल                                            पूर्वी रूस में 7.0 तीव्रता का भूकंप, सुनामी का खतरा नहीं

पांच साल में जिनने किया मालामाल

यदि आपने इस अवधारणा पर अमल किया होता और वर्ष 2010 में ल्यूपिन, सन फार्मास्युटिकल इंडस्ट्रीज, कोटक महिंद्रा बैंक, एशियन पेंट्ïस और जी एंटरटेनमेंट में प्रत्येक में एक लाख रुपये का निवेश किया होता और इसे पांच साल तक बनाए रखते तो आपका निवेश इन शेयरों में अब बढ़कर 3,82,516 रुपये, 3,38,361 रुपये, 3,17,619 रुपये, 3,07,437 रुपये और 2,97,212 रुपये हो गया होता। प्रतिशत के संदर्भ में देखें तो यह 282 प्रतिशत, 238 प्रतिशत, 218 प्रतिशत, 207 प्रतिशत और 197 प्रतिशत है। तुलनात्मक रूप से बीएसई के सेंसेक्स और निफ्टी 50 ने 2010 से 27 फीसदी और 30 फीसदी का प्रतिफल दिया है। आंकड़ों से पता चलता है कि कुल मिलाकर पिछले लगातार पांच वर्षों में बीएसई 500 के 41 शेयरों ने बाजार की तुलना में अच्छा प्रदर्शन दर्ज किया। इनमें 17 शेयरों में पिछले पांच प्रत्येक साल में मजबूत प्रतिफल दिया जिनमें हटसन एग्रो प्रोडक्ट्ïस, पेज इंडस्ट्रीज, अजंता फार्मा, ब्लू डार्ट एक्सप्रेस, कजारिया सिरेमिक्स, ला ओपला आरजी और आयशर मोटर्स शामिल हैं।  वर्ष 2010 और 2015 के बीच जहां अजंता फार्मा में 4,626 फीसदी तेजी दर्ज की गई वहीं ला ओपला आरजी, काइटेक्स गारमेंट्ïस, आयशर मोटर्स, कजारिया सिरैमिक्स, सेरा सैनिटरीवेयर, सिंफनी और वक्रांगी में 1000-4500 फीसदी की तेजी दर्ज की गई।  पांच लार्ज कैप शेयरों द्वारा दिए गए इस मजबूत प्रतिफल के पीछे वजह बताते हुए इक्विनोमिक्स रिसर्च  ऐंड एडवायजरी के संस्थापक एवं प्रबंध निदेशक जी चोक्कालिंगम ने कहा, 'इन शेयरों ने इन वर्षों के दौरान अच्छा प्रदर्शन किया जिसकी मौलिक वजह हैं। ल्यूपिन और एशियन पेंट्ïस को उनके संबद्घ व्यवसायों के स्वरूप को देखते हुए रक्षात्मक समझा जाता है। वहीं जी एंटरटेनमेंट मीडिया सेक्टर से है जिसमें पिछले पांच साल से लगातार वृद्घि दर्ज की गई है। दूसरी तरफ कोटक महिंद्रा बैंक बैंकिंग सेक्टर में बेहद सक्षम बैंकों में से एक है और पिछले कुछ वर्षों से अपनी एनपीए को नियंत्रित रखने में सक्षम रहा है।' ल्यूपिन के अलावा अरविंद, बर्जर पेंट्ïस, टॉरंट फार्मास्युटिकल्स, ला ओपला आरजी, वक्रांगी, काइटेक्स गारमेंट्ïस, अजंता फार्मा, कजारिया सिरैमिक्स, जेनसार टेक्नोलॉजीज, 8के माइल्स सॉफ्टवेयर सर्विसेज और कैपिटल प्वाइंट लैब में निवेशकों को पिछले चार कैलेंडर वर्षों में लगभग 25 प्रतिशत का प्रतिफल मिला है। विश्लेषकों का कहना है कि सालाना आधार पर शुद्घ लाभ में लगातार वृद्घि और वैश्विक निवेशकों की खरीदारी दिलचस्पी की वजह से इन शेयरों में तेजी को बढ़ावा मिला। उदाहरण के लिए, अजंता फार्मा की बाजार वैल्यू (बोनस और शेयर विभाजन के समायोजन के साथ) दिसंबर 2010 के 28 रुपये से दिसंबर 2015 में 47 गुना बढ़कर 1,337 रुपये हो गई। यह प्रतिफल अगस्त 2015 में इस शेयर द्वारा 1720 रुपये के ऊंचे स्तर को छुए जाने के बाद से 20 फीसदी की गिरावट के बावजूद है।  

News Posted on: 05-01-2016
वीडियो न्यूज़
मासिक राशिफल