सऊदी अरब में शिया मस्जिद में आत्मघाती बम विस्फोट, 4 लोगों की मौत, 18 घायल                                                 पाक में मौजूद आतंकियों के सुरक्षित पनाहगाह समस्या पैदा कर रहे: अमेव्यापारी नेता मिले मंत्री गोप जी सेरिकी जनरल                                            पूर्वी रूस में 7.0 तीव्रता का भूकंप, सुनामी का खतरा नहीं

ऑस्ट्रेलियाई तूफान से निपटने के लिए टीम इंडिया की '20 गज' वाली रणनीति

पर्थ: टीम इंडिया आज ऑस्ट्रेलिया दौरे का आगाज़ पश्चिम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे प्रेक्टिस मैच खेलकर करेगी. जिसके लिए टीम इंडिया ऑस्ट्रेलियाई समीकरणों को ध्यान में रखकर तैयारी में लगी है. टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक खास और नई रणनीति के साथ मैदान पर उतरेगी जिसके लिए भारतीय टीम ने बीते दिन पर्थ में 20 गज की क्रिकेट पिच पर बल्लेबाज़ी अभ्यास किया. टीम इंडिया ने ये खास रणनीति ऑस्ट्रेलियाई तेज़ गेंदबाज़ी आक्रमण को ध्यान में रखते हुए बनाई है. ऑस्ट्रेलियाई टीम ने किसी भी स्पेशलिस्ट स्पिनर को टीम में जगह नहीं दी है और उसने 6 स्पेशलिस्ट तेज़ गेंदबाज़ों को भारत के खिलाफ सीरीज़ के लिए टीम के साथ रखा है. भारतीय बल्लेबाज़ों को अकसर ऑस्ट्रेलिया में उछाल और तेज़ गति का सामने करने में दिक्कत आती रही है जिससे निपटने के लिए टीम इंडिया ने 20 गज की पिच का सहारा लिया है. 20 गज़ की पिच पर विराट कोहली से लेकर कप्तान धोनी और अजिंक्ये रहाणे सरीखे बल्लेबाज़ों ने प्रेक्टिस की लेकिन इस मौके पर विराट कोहली की बल्लेबाज़ी में परेशानी का सामना करना पड़ा. 20 गज की पिच पर भारतीय टीम ने इसलिए प्रेक्टिस की जिससे वो ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज़ों की अधिक तेज़ी और उछाल का सामना कर सकें. टीम इंडिया आज और कल वाका मैदान पर पश्चिम ऑस्ट्रेलिया इलेवन के खिलाफ दो प्रैक्टिस मैच खेल दौरे का गाज़ करेगी. इस मैच के सहारे कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी प्लेइंग इलेवन की तलाश करना चाहेंगे. पहला प्रैक्टिस मैच आज होने वाला है जो एक टी-20 होगा वहीं शनिवार को होने वाला दूसरा मैच 50 ओवरों का होगा. निश्चित तौर पर पश्चिम ऑस्ट्रेलिया की मुख्य टीम नहीं होगी क्योंकि उसकी मुख्य टीम पर्थ स्कोरचर्स के नाम से अभी बिग बैश लीग में खेल रही है और उसके खिलाड़ी इस मैच के लिये उपलब्ध नहीं रहेंगे. यह पश्चिम ऑस्ट्रेलिया की दूसरी श्रेणी की टीम होगी. इन दो मैचों को अधिकृत दर्जा नहीं मिला है और इसलिए इसमें सभी खिलाड़ी भाग ले सकते हैं. धोनी के लिए सबसे अहम सुरेश रैना के स्थान पर किसी खिलाड़ी को फिट करना होगा. मनीष पांडे और गुरकीरत सिंह मान में से किसी एक को इस स्थान पर उतारा जा सकता है. पांडे ने अब तक जिम्बाब्वे के खिलाफ एकमात्र वनडे खेला है जिसमें उन्होंने 71 रन बनाये थे जबकि गुरकीरत को अभी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करना है. गुरकीरत अच्छा ऑफ ब्रेक गेंदबाज भी है और यदि धोनी रविचंद्रन अश्विन के रूप में केवल एक स्पिनर के रूप में उतरना चाहेंगे तो वह दूसरे स्पिनर की कमी पूरी कर सकते हैं. भारत ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांच वनडे मैचों की सीरीज का पहला मैच 12 जनवरी को खेलेगा. अभी सीमित ओवरों की भारतीय टीम यहां पहुंची है जबकि टी20 विशेषज्ञ जैसे युवराज सिंह, हरभजन सिंह और आशीष नेहरा वनडे सीरीज समाप्त होने के बाद टीम से जुड़ेंगे.

News Posted on: 08-01-2016
वीडियो न्यूज़
मासिक राशिफल