सऊदी अरब में शिया मस्जिद में आत्मघाती बम विस्फोट, 4 लोगों की मौत, 18 घायल                                                 पाक में मौजूद आतंकियों के सुरक्षित पनाहगाह समस्या पैदा कर रहे: अमेव्यापारी नेता मिले मंत्री गोप जी सेरिकी जनरल                                            पूर्वी रूस में 7.0 तीव्रता का भूकंप, सुनामी का खतरा नहीं

अतार्किक और अवैज्ञानिक सोच पर आधारित है असहिष्णुता: उपराष्ट्रपति अंसारी

नई दिल्ली। देश में बढ़ती असहिष्णुता की बहस के बीच उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने कहा है कि देश में आलोचना और सवाल उठाए जाने पर असहिष्णुता है, क्योंकि उन लोगों की मान्यताएं अतार्किक और अवैज्ञानिक सोच पर आधारित हैं। उन्होंने कहा कि वैज्ञानिक सोच के अभाव का ही नतीजा है कि कई बार विरोध दर्ज करने वाले लोगों को मार दिया गया, किताबों पर प्रतिबंध लगा दिया गया या उसकी सर्कुलेशन नहीं होने दी। ‘अतार्किक आस्था एवं विश्वासों’’ पर बरसते हुए उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने रविवार को कहा कि समाज में ‘आलोचना और सवाल उठाए जाने की असहनशीलता’ है, जिसमें असहमति जाहिर करने वाले लोगों का बहिष्कार कर दिया जाता है या उनकी हत्या कर दी जाती है। देश में ‘असहनशीलता’ पर चल रही बहस के बीच उप-राष्ट्रपति ने यह टिप्पणी की है।यहां ‘वैज्ञानिक सोच: ज्ञान आधारित समाज की पूर्व शर्त’ के विषय पर एक परिचर्चा का उद्घाटन करते हुए अंसारी ने कहा कि अवैज्ञानिक पूर्वाग्रहों और आदतों पर आधारित अतार्किक आस्था एवं विश्वास, संदेहास्पद नींव अब भी कायम हैं।‘आलोचना एवं सवाल उठाए जाने की असहनशीलता’ होने का दावा करते हुए अंसारी ने कहा, ‘तथ्यों से मिथकों को, पौराणिक कथाओं से इतिहास को, वैज्ञानिक तौर पर सत्यापित तथ्यों से विश्वास को अलग करने की कोशिश कर इन पर लगातार हमले किए जा रहे हैं। और तो और, रहस्य को वैज्ञानिक कहा जा रहा है और अंधविश्वास को संस्कृति कहा जा रहा है।’उप-राष्ट्रपति ने कहा कि ऐसे रवैयों ने ‘अक्सर अप्रिय एवं हिंसक मोड़ ले लिया है, किताबें प्रतिबंधित की गई हैं या उन्हें प्रसार से वापस ले लिया गया है। पुस्तकालयों को जला दिया गया। असहमति जाहिर करने वाले लोगों का बहिष्कार किया गया या उन्हें जान से मार दिया गया। सामाजिक शांति भंग की गई और नागरिकों पर हिंसा की गई।’ अंसारी ने कहा, ‘इन सभी मामलों में आम धारणा ये है कि सवाल करने से भावनाएं आहत होंगी, मौजूदा व्यवस्था को नुकसान होगा, सामाजिक व्यवस्था बाधित होगी या यह कमजोर पड़ जाएगी।’ 

News Posted on: 11-01-2016
वीडियो न्यूज़
मासिक राशिफल